Hindi Songs

Hindi Songs's Lyrics

Tu Hi Tu,Tu Hi Tu Satrangi Re / तू ही तू, तू ही तू सतरंगी रे

तू ही तू, तू ही तू, सतरंगी रे 
तू ही तू, तू ही तू, मनरंगी रे 

दिल का साया, हमसाया सतरंगी रे, मनरंगी रे
कोई नूर है तू, क्यों दूर है तू 
जब पास है तू, एहसास है तू 
कोई ख़्वाब है या परछाई है, सतरंगी रे
इस बार बता मुँहज़ोर हवा, ठहरेगी कहाँ

इश्क पर ज़ोर नहीं है ये वो आतिश ग़ालिब
जो लगाए ना लगे और बुझाए ना बने

आँखों ने कुछ ऐसे छुआ
हलका हलका उन्स हुआ
दिल को महसूस हुआ
तू ही तू, जीने की सारी खुशबू
तू ही तू, तू ही तू, आरज़ू आरज़ू
तेरी जिस्म की आँच को छूते ही मेरे साँस सुलगने लगते हैं
मुझे इश्क दिलासे देता है, मेरे दर्द बिलखने लगते हैं

तू ही तू, तू ही तू, जीने की सारी खुशबू
तू ही तू, तू ही तू, आरज़ू आरज़ू
छूती है मुझे सरगोशी से 
आँखो में घुली खामोशी से
मैं फर्श पे सजदे करता हूँ 
कुछ होश में कुछ बेहोशी से

दिल का साया, हमसाया सतरंगी रे, मनरंगी रे
कोई नूर है तू, क्यों दूर है तू 
जब पास है तू, एहसास है तू 
कोई ख़्वाब है या परछाई है, सतरंगी रे

तेरी राहों में उलझा उलझा हूँ
तेरी बाहों में उलझा उलझा
सुलझाने दे होश मुझे, तेरी चाहों में उलझा हूँ
मेरा जीना जुनूं, मेरा मरना जुनूं
अब इस के सिवा नहीं कोई सुकूं

तू ही तू, तू ही तू, सतरंगी रे 
तू ही तू, तू ही तू, मनरंगी रे 

इश्क पर ज़ोर नहीं है ये वो आतिश ग़ालिब
जो लगाए ना लगे और बुझाए ना बने

मुझे मौत की गोद में सोने दे
तेरी रूह में जिस्म डूबो ने दे
सतरंगी रे, मनरंगी रे
#ShahrukhKhan #ManishaKoirala #ManiRatnam #FilmfareBestMusicDirector


Tu Hi Tu,Tu Hi Tu Satrangi Re Lyrics

Tu hi tu, tu hi tu, satarngi re 
Tu hi tu, tu hi tu, manarngi re 

Dil ka saaya, hamasaaya satarngi re, manarngi re
Koi nur hai tu, kyon dur hai tu 
Jab paas hai tu, ehasaas hai tu 
Koi khwaab hai ya parachhaai hai, satarngi re
Is baar bata munhazor hawa, thhaharegi kahaan

Ishk par jor nahin hai ye wo atish gaalib
Jo lagaae na lage aur bujhaae na bane

Ankhon ne kuchh aise chhua
Halaka halaka uns hua
Dil ko mahasus hua
Tu hi tu, jine ki saari khushabu
Tu hi tu, tu hi tu, arazu arazu
Teri jism ki anch ko chhute hi mere saans sulagane lagate hain
Mujhe ishk dilaase deta hai, mere dard bilakhane lagate hain

Tu hi tu, tu hi tu, jine ki saari khushabu
Tu hi tu, tu hi tu, arazu arazu
Chhuti hai mujhe saragoshi se 
Ankho men ghuli khaamoshi se
Main farsh pe sajade karata hun 
Kuchh hosh men kuchh behoshi se

Dil ka saaya, hamasaaya satarngi re, manarngi re
Koi nur hai tu, kyon dur hai tu 
Jab paas hai tu, ehasaas hai tu 
Koi khwaab hai ya parachhaai hai, satarngi re

Teri raahon men ulajha ulajha hun
Teri baahon men ulajha ulajha
Sulajhaane de hosh mujhe, teri chaahon men ulajha hun
Mera jina junun, mera marana junun
Ab is ke siwa nahin koi sukun

Tu hi tu, tu hi tu, satarngi re 
Tu hi tu, tu hi tu, manarngi re 

Ishk par jor nahin hai ye wo atish gaalib
Jo lagaae na lage aur bujhaae na bane

Mujhe maut ki god men sone de
Teri ruh men jism dubo ne de
Satarngi re, manarngi re

   
Manjusha Sawant
September 27 2018 Permalink
उन्स : Love, affection
आतिश : fire

Additional Information

गीतकार : गुलज़ार, गायक : कविता कृष्णमुर्ती - सोनू निगम, संगीतकार : ए. आर. रहमान, चित्रपट : दिल से (१९९८) / Lyricist : Gulzar, Singer : Kavitha Krishnamurthi - Sonu Nigam, Music Director : A. R. Rahman, Movie : Dil Se (1998)

Share this song

Hindi Songs Lyrics Submitted By

Administrator

Administrator

June 10 2012

You may also like these pages:

geetmanjusha.com © 1999-2019 Manjusha Umesh | Privacy | Community Guidelines