Hindi Songs

Hindi Songs's Lyrics

Waqt Se Din Aur Raat / वक़्त से दिन और रात

कल जहाँ बसती थी ख़ुशियाँ 
आज है मातम वहाँ 
वक़्त लाया था बहारें 
वक़्त लाया है ख़िज़ाँ 

वक़्त से दिन और रात, वक़्त से कल और आज 
वक़्त की हर शय ग़ुलाम, वक़्त का हर शय पे राज

वक़्त की गर्दिश से है चाँद तारों का निज़ाम
वक़्त की ठोकर में हैं क्या हुकूमत क्या समाज

वक़्त की पाबन्द हैं आता-जाती रौनक़ें
वक़्त है फूलों की सेज, वक़्त है कांटों का ताज़

आदमी को चाहिए वक़्त से डरकर रहे 
कौन जाने किस घड़ी वक़्त का बदले मिज़ाज
#BalrajSahni #AchalaSachdev #YashChopra

Waqt Se Din Aur Raat Lyrics

Kal jahaan basati thi khushiyaan 
Aj hai maatam wahaan 
Waqt laaya tha bahaaren 
Waqt laaya hai khizaan 

Waqt se din aur raat, waqt se kal aur aj 
Waqt ki har shay gulaam, waqt ka har shay pe raaj

Waqt ki gardish se hai chaand taaron ka nizaam
Waqt ki thhokar men hain kya hukumat kya samaaj

Waqt ki paaband hain ata-jaati raunaqen
Waqt hai fulon ki sej, waqt hai kaanton ka taaz

Adami ko chaahie waqt se darakar rahe 
Kaun jaane kis ghadi waqt ka badale mizaaj

  
ख़िज़ाँ : autumn
निज़ाम : system, arrangement

Additional Information

गीतकार : साहिर लुधियानवी, गायक : मोहम्मद रफी, संगीतकार : रवी, चित्रपट : वक़्त (१९६५) / Lyricist : Sahir Ludhianvi, Singer : Mohammad Rafi, Music Director : Ravi, Movie : Waqt (1965)

Hindi Songs Lyrics Submitted By

Manjusha Sawant

April 30 2021

You may also like these pages:

geetmanjusha.com © 1999-2020 Manjusha Umesh | Privacy | Community Guidelines