Hindi Songs

Hindi Songs's Lyrics

Raaton Ke Saaye Ghane / रातों के साये घने

रातों के साये घने जब बोझ दिल पर बने 
न तो जले बाती न हो कोई साथी
फिर भी न डर अगर बुझे दिए 
सहर तो है तेरे लिए 

जब भी मुझे कभी कोई जो ग़म घेरे 
लगता है होंगे नहीं सपने ये पूरे मेरे 
कहता है दिल मुझको माना है ग़म तुझको  

जब ना चमन खिले मेरा बहारों में 
जब डूबने मैं लगूँ रातों के मझधारों में 
मायूस मन डोले पर ये गगन बोले 

जब ज़िन्दगी किसी तरह बहलती नहीं 
ख़ामोशियों से भरी जब रात ढलती नहीं 
तब मुस्कुराऊँ मैं, ये गीत गाऊं मैं
#JayaBhaduri #philosophicalsong

Raaton Ke Saaye Ghane Lyrics

Raaton ke saaye ghane jab bojh dil par bane 
N to jale baati n ho koi saathi
Fir bhi n dar agar bujhe die 
Sahar to hai tere lie 

Jab bhi mujhe kabhi koi jo gam ghere 
Lagata hai honge nahin sapane ye pure mere 
Kahata hai dil mujhako maana hai gam tujhako  

Jab na chaman khile mera bahaaron men 
Jab dubane main lagun raaton ke majhadhaaron men 
Maayus man dole par ye gagan bole 

Jab zindagi kisi tarah bahalati nahin 
Khaamoshiyon se bhari jab raat dhalati nahin 
Tab muskuraaun main, ye git gaaun main

 

Additional Information

गीतकार : योगेश, गायक : लता मंगेशकर, संगीतकार : सलील चौधरी, चित्रपट : अन्नदाता (१९७२) / Lyricist : Yogesh, Singer : Lata Mangeshkar, Music Director : Saleel Chowdhury, Movie : Annadata (1972)

Hindi Songs Lyrics Submitted By

Manjusha Sawant

January 07 2020

You may also like these pages:

geetmanjusha.com © 1999-2020 Manjusha Umesh | Privacy | Community Guidelines