Hindi Songs

Hindi Songs's Lyrics

Kya Bhala Mujhko Parkhne Ka / क्या भला मुझको परखने का नतीजा निकला

क्या भला मुझको परखने का नतीजा निकला 
ज़ख़्म-ए-दिल आप की नज़रों से भी गहरा निकला 

तिश्नगी जम गई पत्थर की तरह होठों पर 
डूब कर भी तेरे दरिया से मैं प्यासा निकला

तोड़ कर देख लिया आईना-ए-दिल तूने
तेरी सूरत के सिवा और बता क्या निकला

जब कभी तुझको पुकारा मेरी तनहाई ने 
बू उड़ी फूल से तस्वीर से साया निकला

कोई मिलता है तो अब अपना पता पूछता हूँ
मैं तेरी खोज में तुझ से भी परे जा निकला

नज़र आया था सर-ए-बाम मुज़फ्फ़र कोई 
पहुँचा दीवार के नज़दीक तो साया निकला
#Ghazal #Nonfilmi


Kya Bhala Mujhko Parkhne Ka Lyrics

Kya bhala mujhako parakhane ka natija nikala 
Zakhm-e-dil ap ki nazaron se bhi gahara nikala 

Tishnagi jam gi patthar ki tarah hothhon par 
Dub kar bhi tere dariya se main pyaasa nikala

Tod kar dekh liya aina-e-dil tune
Teri surat ke siwa aur bata kya nikala

Jab kabhi tujhako pukaara meri tanahaai ne 
Bu udi ful se taswir se saaya nikala

Koi milata hai to ab apana pata puchhata hun
Main teri khoj men tujh se bhi pare ja nikala

Nazar aya tha sar-e-baam muzaffar koi 
Pahuncha diwaar ke nazadik to saaya nikala

 

Additional Information

गीतकार : मुज़फ्फ़र वारसी, गायक : -, संगीतकार : -, चित्रपट : / Lyricist : Muzaffar Warsi , Singer : -, Music Director : -, Movie :

Share this song

Hindi Songs Lyrics Submitted By

Manjusha Sawant

October 30 2018

You may also like these pages:

geetmanjusha.com © 1999-2019 Manjusha Umesh | Privacy | Community Guidelines