Hindi Songs

Hindi Songs's Lyrics

Dhoop Hai Kya Aur Saya Kya / धूप है क्या और साया क्या अब मालूम हुआ

धूप है क्या और साया क्या अब मालूम हुआ 
ये सब खेल तमाशा क्या है अब मालूम हुआ

हँसते फूल का चेहरा देखूँ और भर आई आँख
अपने साथ ये किस्सा क्या है अब मालूम हुआ

हम बरसों के बाद भी उसको अब तक भूल ना पाये
दिल से उसका रिश्ता क्या है अब मालूम हुआ

सहरा सहरा प्यासे भटके सारी उम्र जले
बादल का एक टुकड़ा क्या है अब मालूम हुआ


Dhoop Hai Kya Aur Saya Kya Lyrics

Dhup hai kya aur saaya kya ab maalum hua 
Ye sab khel tamaasha kya hai ab maalum hua

Hnsate ful ka chehara dekhun aur bhar ai ankh
Apane saath ye kissa kya hai ab maalum hua

Ham barason ke baad bhi usako ab tak bhul na paaye
Dil se usaka rishta kya hai ab maalum hua

Sahara sahara pyaase bhatake saari umr jale
Baadal ka ek tukada kya hai ab maalum hua

Additional Information

गीतकार : ज़फर गोरखपुरी, गायक : जगजीत सिंग, संगीतकार : जगजीत सिंग, गीत संग्रह / चित्रपट : होप (१९९१) / Lyricist : Zafar Gorakhpuri, Singer : Jagjit Singh, Music Director : Jagjit Singh, Album/Movie : Hope (1991)

Share this song

Hindi Songs Lyrics Submitted By

Manjusha Sawant

February 09 2018

You may also like these pages:

geetmanjusha.com © 1999-2019 Manjusha Umesh | Privacy | Community Guidelines