Hindi Songs

Hindi Songs's Lyrics

Ek Parwaz Dikhai Di Hai / एक परवाज़ दिखाई दी है

एक परवाज़ दिखाई दी है 
तेरी आवाज़ सुनाई दी है 

जिसकी आँखों में कटी थी सदियाँ
उसने सदियों की जुदाई दी है

सिर्फ एक सफ़हा पलट कर उसने
सारी बातों की सफाई दी है

फिर वही लौट के जाना होगा 
यार ने कैसी रिहाई दी है

आग में क्या क्या जला है शब भर 
कितनी खुशरंग दिखाई दी है


Ek Parwaz Dikhai Di Hai Lyrics

Ek parawaaz dikhaai di hai 
Teri awaaz sunaai di hai 

Jisaki ankhon men kati thi sadiyaan
Usane sadiyon ki judaai di hai

Sirf ek safaha palat kar usane
Saari baaton ki safaai di hai

Fir wahi laut ke jaana hoga 
Yaar ne kaisi rihaai di hai

Ag men kya kya jala hai shab bhar 
Kitani khusharng dikhaai di hai

Additional Information

गीतकार : गुलज़ार, गायक : जगजित सिंग, संगीतकार : जगजित सिंग, गीत संग्रह/चित्रपट : मरासिम (१९९९) / Lyricist : Gulzar, Singer : Jagjit Singh, Music Director : Jagjit Singh, Album/Movie : Marasim (1999)

Share this song

Hindi Songs Lyrics Submitted By

Manjusha Sawant

February 08 2018

You may also like these pages:

geetmanjusha.com © 1999-2019 Manjusha Umesh | Privacy | Community Guidelines