Hindi Songs

Hindi Songs's Lyrics

Apne Chehre Se Jo Zahir Hai / अपने चेहरे से जो ज़ाहिर है छुपायें कैसे

अपने चेहरे से जो ज़ाहिर है छुपायें कैसे 
तेरी मर्ज़ी के मुताबिक़ नज़र आयें कैसे 

घर सजाने का तसव्वुर तो बहोत बाद का है 
पहले ये तय हो कि इस घर को बचायें कैसे 

क़हक़हा आँख का बर्ताव बदल देता है 
हँसनेवाले तुझे आंसू नज़र आयें कैसे 

कोई अपनी ही नज़र से तो हमें देखेगा 
एक क़तरे को समंदर नज़र आयें कैसे


Apne Chehre Se Jo Zahir Hai Lyrics

Apane chehare se jo zaahir hai chhupaayen kaise 
Teri marzi ke mutaabiq nazar ayen kaise 

Ghar sajaane ka tasawwur to bahot baad ka hai 
Pahale ye tay ho ki is ghar ko bachaayen kaise 

Qahaqaha ankh ka bartaaw badal deta hai 
Hnsanewaale tujhe ansu nazar ayen kaise 

Koi apani hi nazar se to hamen dekhega 
Ek qatare ko samndar nazar ayen kaise

Additional Information

गीतकार : वसीम बरेलवी, गायक : जगजित सिंग, संगीतकार : जगजित सिंग, गीत संग्रह/चित्रपट : - / Lyricist : Waseem Barelvi, Singer : Jagjit Singh, Music Director : Jagjit Singh, Album/Movie : Cry for CRY

Share this song

Hindi Songs Lyrics Submitted By

Manjusha Sawant

February 06 2018

You may also like these pages:

geetmanjusha.com © 1999-2019 Manjusha Umesh | Privacy | Community Guidelines