Hindi Songs

Hindi Songs's Lyrics

Ranjish Hi Sahi (Mehdi Hassan) / रंजिश ही सही दिल ही दुखाने के लिए आ

रंजिश ही सही दिल ही दुखाने के लिए आ 
आ फिर से मुझे छोड़ के जाने के लिए आ 

किस किस को बताएँगे जुदाई का सबब हम 
तू मुझसे ख़फ़ा है तो ज़माने के लिए आ 

अब तक दिल-ए-खुशफ़हम को है तुझ से उम्मीदें 
ये आखिरी शम्में भी बुझाने के लिए आ 

एक उम्र से हूँ लज्जत-ए-गिर्या से भी महरूम 
ऐ राहत-ए-जां मुझको रुलाने के लिए आ 

कुछ तो मेरे पिंदार-ए-मोहब्बत का भरम रख 
तू भी तो कभी मुझको मनाने के लिए आ 

माना के मोहब्बत का छुपाना है मोहब्बत 
चुपके से किसी रोज़ जताने के लिए आ 

जैसे तुम्हें आते हैं न आने के बहाने 
ऐसे ही किसी रोज़ न जाने के लिए आ 

पहले से मरासिम ना सही फिर भी कभी तो 
रस्म-ओ-रहे दुनिया ही निभाने के लिए आ


Ranjish Hi Sahi (Mehdi Hassan) Lyrics

Rnjish hi sahi dil hi dukhaane ke lie a 
A fir se mujhe chhod ke jaane ke lie a 

Kis kis ko bataaenge judaai ka sabab ham 
Tu mujhase khafa hai to zamaane ke lie a 

Ab tak dil-e-khushafaham ko hai tujh se ummiden 
Ye akhiri shammen bhi bujhaane ke lie a 

Ek umr se hun lajjat-e-girya se bhi maharum 
Ai raahat-e-jaan mujhako rulaane ke lie a 

Kuchh to mere pindaar-e-mohabbat ka bharam rakh 
Tu bhi to kabhi mujhako manaane ke lie a 

Maana ke mohabbat ka chhupaana hai mohabbat 
Chupake se kisi roz jataane ke lie a 

Jaise tumhen ate hain n ane ke bahaane 
Aise hi kisi roz n jaane ke lie a 

Pahale se maraasim na sahi fir bhi kabhi to 
Rasm-o-rahe duniya hi nibhaane ke lie a

Additional Information

गीतकार : -, गायक : -, संगीतकार : -, चित्रपट : - / Lyricist : -, Singer : -, Music Director : -, Movie :

Share this song

Hindi Songs Lyrics Submitted By

Manjusha Sawant

November 12 2017

You may also like these pages:

geetmanjusha.com © 1999-2019 Manjusha Umesh | Privacy | Community Guidelines