Umesh Gawade

Umesh Gawade's Notes

Umesh Gawade

Umesh Gawade

November 10 2013

तेरी मेरी बातों का हर लम्हा, सब से अंजाना
दो लफ़्ज़ों में यह बयाँ न हो पाए
हर एहसास में तू है, हर इक याद में तेरा अफसाना
दो लफ़्ज़ों में यह बयाँ न हो पाए
Manjusha Sawant liked this

geetmanjusha.com © 1999-2019 Manjusha Umesh | Privacy | Community Guidelines