Hindi Songs

Hindi Songs's Lyrics

Rut Aa Gayi Re, Rut Chha Gayi Re / रुत आ गयी रे, रुत छा गयी रे

रुत आ गयी रे, रुत छा गयी रे

पीली पीली सरसों फूले, पीले-पीले पत्ते झूमें
पीहू-पीहू पपीहा बोले, चल बाग़ में

धमक धमक ढोलक बाजे
छनक छनक पायल छनके
खनक खनक कंगना बोले
चल बाग़ में

चुनरी जो तेरी उड़ती है, उड़ जाने दे
बिंदिया जो तेरी गिरती है, गिर जाने दे

गीतों की मौज आई, फूलों की फौज आई
नदिया में जो धूप घुली, सोना बहा ...
अम्बुवा से है लिपटी, एक बेल बेले की
तू ही मुझसे है दूर, आ पास आ ...

मुझको तो साँसों से छु ले
झूलूँ  इन बाहों के झूले
प्यार थोड़ा सा मुझे दे के
मेरे जानों दिल तू ले ले

तू जब यूँ सजती है, इक धूम मचती है
सारी गलियों में, सारे बाज़ार में
आँचल बसंती है, उसमें से छनती है
जो मैंने पूजी है मूरत प्यार में
जान कैसी है ये डोरी, मैं बंधा हूँ जिससे गोरी
तेरे नैनों ने मेरी नींदों की, कर ली है चोरी
#AmirKhan #NanditaDas #DeepaMehta

Rut Aa Gayi Re, Rut Chha Gayi Re Lyrics

Rut a gayi re, rut chha gayi re

Pili pili sarason fule, pile-pile patte jhumen
Pihu-pihu papiha bole, chal baag men

Dhamak dhamak dholak baaje
Chhanak chhanak paayal chhanake
Khanak khanak kngana bole
Chal baag men

Chunari jo teri udti hai, ud jaane de
Bindiya jo teri girati hai, gir jaane de

Giton ki mauj ai, fulon ki fauj ai
Nadiya men jo dhup ghuli, sona baha ...
Ambuwa se hai lipati, ek bel bele ki
Tu hi mujhase hai dur, a paas a ...

Mujhako to saanson se chhu le
Jhulun  in baahon ke jhule
Pyaar thoda sa mujhe de ke
Mere jaanon dil tu le le

Tu jab yun sajati hai, ik dhum machati hai
Saari galiyon men, saare baajaar men
Anchal basnti hai, usamen se chhanati hai
Jo mainne puji hai murat pyaar men
Jaan kaisi hai ye dori, main bndha hun jisase gori
Tere nainon ne meri nindon ki, kar li hai chori

  
Vivekanand Nayak liked this

Additional Information

गीतकार : जावेद अख्तर, गायक : सुखविंदर सिंग, संगीतकार : ए. आर. रहमान, चित्रपट : १९४७ अर्थ (१९९९) / Lyricist : Javed Akhtar, Singer : Sukhwinder Singh, Music Director : A. R. Rahman, Movie : 1947 Earth (1999)

Share this song

Hindi Songs Lyrics Submitted By

Umesh Gawade

Umesh Gawade

August 06 2013

You may also like these pages:

geetmanjusha.com © 1999-2018 Manjusha Umesh | Privacy | Community Guidelines