Hindi Songs

Hindi Songs's Lyrics

Taare Zameen Par - Kho Na Jaye Yeh / खो न जाएँ ये तारे ज़मीं पर

देखो इन्हें ये हैं ओस की बूँदें
पत्तों की गोद में आसमां से कूदें
अंगड़ाई लें फिर करवट बदलकर
नाज़ुक से मोती हँस दें फिसलकर
खो ना जाएँ ये तारे ज़मीं पर

ये तो हैं सर्दी में धूप की किरणें
उतरें जो आँगन को सुनहरा सा करने
मन के अँधेरों को रोशन सा कर दें
ठिठुरती हथेली की रंगत बदल दें
खो न जाएँ ये तारे ज़मीं पर

जैसे आँखों की डिबिया में निंदिया
और निंदिया में मीठा सा सपना
और सपने में मिल जाए फ़रिश्ता सा कोई
जैसे रंगों भरी पिचकारी
जैसे तितलियाँ फूलों की क्यारी
जैसे बिना मतलब का प्यारा रिश्ता हो कोई

ये तो आशा की लहर हैं
ये तो उम्मीद की सहर हैं
ख़ुशियों की नहर हैं
खो न जाएँ ये तारे ज़मीं पर

देखो रातों के सीने पे ये तो
झिलमिल किसी लौ से उगे हैं
ये तो अंबिया की ख़ुश्बू हैं
बाग़ों से बह चलें

जैसे काँच में चूड़ी के टुकड़े
जैसे खिले खिले फूलों के मुखड़े
जैसे बंसी कोई बजाए पेड़ों के तले

ये तो झोंके हैं पवन के
हैं ये घुंघरू जीवन के
ये तो सुर हैं चमन के
खो न जाएँ ये तारे ज़मीं पर

मोहल्ले की रौनक गलियाँ हैं जैसे
खिलने की ज़िद पर कलियाँ हैं जैसे
मुठ्ठी में मौसम की जैसे हवाएँ
ये हैं बुज़ुर्गों के दिल की दुआएँ
खो न जाएँ ये तारे ज़मीं पर

कभी बातें जैसे दादी नानी
कभी छलकें जैसे मम-मम पानी
कभी बन जाएँ भोले सवालों की झड़ी
सन्नाटे में हँसी के जैसे
सूने होंठों पे ख़ुशी के जैसे
ये तो नूर है बरसे अगर
तेरी क़िस्मत हो बड़ी

जैसे झील में लहराए चंदा
जैसे भीड़ में अपने का कंधा
जैसे मनमौजी नदिया
झाग उड़ाती कुछ कहे

जैसे बैठे बैठे मीठी सी झपकी
जैसे प्यार की धीमी सी थपकी
जैसे कानों में सरगम
हरदम बजती ही रहे
जैसे बरखा उड़ाती है बुंदिया ...
#AmirKhan

Taare Zameen Par - Kho Na Jaye Yeh Lyrics

Dekho inhen ye hain osa aki bunden
Patton ki god men asamaan se kuden
Angadaai len fir karawat badalakar
Naajuk se moti hns den fisalakar
Kho na jaaen ye taare jmin par

Ye to hain sardi men dhup ki kiranen
Utaren jo angan ko sunahara sa karane
Man ke andheron ko roshan sa kar den
Thhithhurati hatheli ki rngat badal den
Kho n jaaen ye taare jmin par

Jaise ankhon ki dibiya men nindiya
Aur nindiya men mithha sa sapana
Aur sapane men mil jaae farishta sa koi
Jaise rngon bhari pichakaari
Jaise titaliyaan fulon ki kyaari
Jaise bina matalab ka pyaara rishta ho koi

Ye to asha ki lahar hain
Ye to ummid ki sahar hain
Khushiyon ki nahar hain
Kho n jaaen ye taare jmin par

Dekho raaton ke sine pe ye to
Jhilamil kisi lau se uge hain
Ye to anbiya ki khushbu hain
Baagon se bah chalen

Jaise kaanch men chudi ke tukade
Jaise khile khile fulon ke mukhade
Jaise bnsi koi bajaae pedon ke tale

Ye to jhonke hain pawan ke
Hain ye ghungharu jiwan ke
Ye to sur hain chaman ke
Kho n jaaen ye taare jmin par

Mohalle ki raunak galiyaan hain jaise
Khilane ki jid par kaliyaan hain jaise
Muthhthhi men mausam ki jaise hawaaen
Ye hain bujurgon ke dil ki duaen
Kho n jaaen ye taare jmin par

Kabhi baaten jaise daadi naani
Kabhi chhalaken jaise mam-mam paani
Kabhi ban jaaen bhole sawaalon ki jhadi
Sannaate men hnsi ke jaise
Sune honthhon pe khushi ke jaise
Ye to nur hai barase agar
Teri qismat ho badi

Jaise jhil men laharaae chnda
Jaise bhid men apane ka kndha
Jaise manamauji nadiya
Jhaag udaati kuchh kahe

Jaise baithhe baithhe mithhi si jhapaki
Jaise pyaar ki dhimi si thapaki
Jaise kaanon men saragam
Haradam bajati hi rahe
Jaise barakha udaati hai bundiya ...

Additional Information

गीतकार : प्रसून जोशी, गायक : शंकर महादेवन, संगीतकार : शंकर - एहसान - लॉय, गीत संग्रह / चित्रपट : तारे ज़मीं पर (२००७) / Lyricist : Prasoon Joshi, Singer : Shankar Mahadevan, Music Director : Shankar - Ehsaan - Loy, Album/Movie : Taare Zameen Par (2007)

Hindi Songs Lyrics Submitted By

Avinash Sawant

Avinash Sawant

June 29 2013

You may also like these pages:

geetmanjusha.com © 1999-2020 Manjusha Umesh | Privacy | Community Guidelines