Hindi Songs

Hindi Songs's Lyrics

Mere Mann Ki Ganga / मेरे मन की गंगा और तेरे मन की जमुना का

मेरे मन की गंगा और तेरे मन की जमुना का
बोल राधा बोल संगम होगा के नहीं

कितनी सदियाँ बीत गईं हैं हाए तुझे समझाने में
मेरे जैसा धीरजवाला है कोई और जमाने में
दिल का बढ़ता ब़ोझ कभी कम होगा के नहीं

दो नदियों का मेल अगर इतना पावन कहलाता है
क्यो ना जहाँ दो दिल मिलते हैं, स्वर्ग वहाँ बस जाता है
हर मौसम है प्यार का मौसम होगा के नहीं

तेरी खातिर मैं तड़पा यूँ तरसे धरती सावन को
राधा राधा एक रटन है, साँस की आवन जावन को
पत्थर पिघले दिल तेरा नम होगा के नहीं
#RajKapoor #Vaijayantimala


Mere Mann Ki Ganga Lyrics

Mere man ki gnga aur tere man ki jamuna ka
Bol raadha bol sngam hoga ke nahin

Kitani sadiyaan bit gin hain haae tujhe samajhaane men
Mere jaisa dhirajawaala hai koi aur jamaane men
Dil ka badhta bojh kabhi kam hoga ke nahin

Do nadiyon ka mel agar itana paawan kahalaata hai
Kyo na jahaan do dil milate hain, swarg wahaan bas jaata hai
Har mausam hai pyaar ka mausam hoga ke nahin

Teri khaatir main tadpa yun tarase dharati saawan ko
Raadha raadha ek ratan hai, saans ki awan jaawan ko
Patthar pighale dil tera nam hoga ke nahin

 

Additional Information

गीतकार : शैलेन्द्र, गायक : मुकेश, संगीतकार : शंकर जयकिशन, चित्रपट : संगम (१९६४) / Lyricist : Shailendra, Singer : Mukesh, Music Director : Shankar Jaikishan, Movie : Sangam (1964)

Share this song

Hindi Songs Lyrics Submitted By

Administrator

Administrator

June 10 2012

You may also like these pages:

geetmanjusha.com © 1999-2019 Manjusha Umesh | Privacy | Community Guidelines