Hindi Songs

Hindi Songs's Lyrics

Woh Shaam Kuch Ajeeb Thi / वो शाम कुछ अजीब थी, ये शाम भी अजीब है

वो शाम कुछ अजीब थी
ये शाम भी अजीब है
वो कल भी पास पास थी
वो आज भी करीब है

झुकी हुई निगाह में कहीं मेरा ख़याल था
दबी दबी हँसी में इक हसीन सा गुलाल था
मैं सोचता था मेरा नाम गुनगुना रही है वो
न जाने क्यों लगा मुझे के मुस्कुरा रही है वो

मेरा ख़याल है अभी झुकी हुई निगाह में
खिली हुई हँसी भी है दबी हुई सी चाह में
मैं जानता हूँ मेरा नाम गुनगुना रही है वो
यही ख़याल है मुझे के साथ आ रही है वो
#RajeshKhanna #WaheedaRehman


Woh Shaam Kuch Ajeeb Thi Lyrics

Wo shaam kuchh ajib thi
Ye shaam bhi ajib hai
Wo kal bhi paas paas thi
Wo aj bhi karib hai

Jhuki hui nigaah men kahin mera khayaal tha
Dabi dabi hnsi men ik hasin sa gulaal tha
Main sochata tha mera naam gunaguna rahi hai wo
N jaane kyon laga mujhe ke muskura rahi hai wo

Mera khayaal hai abhi jhuki hui nigaah men
Khili hui hnsi bhi hai dabi hui si chaah men
Main jaanata hun mera naam gunaguna rahi hai wo
Yahi khayaal hai mujhe ke saath a rahi hai wo

 

Additional Information

गीतकार : गुलज़ार, गायक : किशोर कुमार, संगीतकार : हेमंत कुमार, चित्रपट : खामोशी (१९६९) / Lyricist : Gulzar, Singer : Kishore Kumar, Music Director : Hemant Kumar, Movie : Khamoshi (1969)

Share this song

Hindi Songs Lyrics Submitted By

Administrator

Administrator

June 10 2012

You may also like these pages:

geetmanjusha.com © 1999-2019 Manjusha Umesh | Privacy | Community Guidelines