Hindi Songs

Hindi Songs's Lyrics

Phir Chhidi Raat / फिर छिडी रात, बात फुलों की

फिर छिड़ी रात बात फूलों की
रात है या बारात फूलों की

फूल के हार, फूल के गजरे
शाम फूलों की, रात फूलों की

आप का साथ, साथ फूलों का
आप की बात, बात फूलों की

फूल खिलते रहेंगे दुनिया में
रोज़ निकलेगी बात फूलों की

नज़रे मिलती हैं, जाम मिलते हैं
मिल रही है हयात फूलों की

ये महकती हुई गज़ल मखदूम
जैसे सहरा में रात फूलों की
#SupriyaPathak #FarooqShaikh


Phir Chhidi Raat Lyrics

Fir chhidi raat baat fulon ki
Raat hai ya baaraat fulon ki

Ful ke haar, ful ke gajare
Shaam fulon ki, raat fulon ki

Ap ka saath, saath fulon ka
Ap ki baat, baat fulon ki

Ful khilate rahenge duniya men
Roz nikalegi baat fulon ki

Najre milati hain, jaam milate hain
Mil rahi hai hayaat fulon ki

Ye mahakati hui gajl makhadum
Jaise sahara men raat fulon ki

 

Additional Information

गीतकार : मख़दूम मुहिउद्दीन, गायक : लता - तलत अजीज, संगीतकार : खय्याम, चित्रपट : बाज़ार (१९८२) / Lyricist : Makhdoom Mohiuddin, Singer : Lata Mangeshkar - Talat Aziz, Music Director : Khayyam, Movie : Bazaar (1982)

Share this song

Hindi Songs Lyrics Submitted By

Administrator

Administrator

June 10 2012

You may also like these pages:

geetmanjusha.com © 1999-2019 Manjusha Umesh | Privacy | Community Guidelines