Hindi Songs

Hindi Songs's Lyrics

Rukh Se Zara Naqab Utha Do Mere Huzoor / रुख़ से ज़रा नक़ाब उठा दो, मेरे हुज़ूर

अपने रुख़ पर निगाह करने दो
खूबसूरत गुनाह करने दो
रुख़ से परदा हटाओ, जान-ए-हया
आज दिल को तबाह करने दो

रुख़ से ज़रा नक़ाब उठा दो, मेरे हुज़ूर
जलवा फिर एक बार दिखा दो, मेरे हुज़ूर

वो मर्मरी से हाथ, वो महका हुआ बदन
टकराया मेरे दिल से, मोहब्बत का एक चमन
मेरे भी दिल का फूल खिला दो, मेरे हुज़ूर

हुस्न-ओ-जमाल आप का शीशे में देख कर
मदहोश हो चुका हूँ मैं जलवों की राहपर
गर हो सके तो होश में ला दो, मेरे हुज़ूर

तुम हमसफ़र मिले हो मुझे इस हयात में
मिल जाए जैसे चाँद कोई सुनी रात में
जाओगे तुम कहाँ ये बता दो, मेरे हुज़ूर
#Jeetendra #MalaSinha

Rukh Se Zara Naqab Utha Do Mere Huzoor Lyrics

Apane rukh par nigaah karane do
Khubasurat gunaah karane do
Rukh se parada hataao, jaan-e-haya
Aj dil ko tabaah karane do

Rukh se jra naqaab uthha do, mere huzur
Jalawa fir ek baar dikha do, mere huzur

Wo marmari se haath, wo mahaka hua badan
Takaraaya mere dil se, mohabbat ka ek chaman
Mere bhi dil ka ful khila do, mere huzur

Husn-o-jamaal ap ka shishe men dekh kar
Madahosh ho chuka hun main jalawon ki raahapar
Gar ho sake to hosh men la do, mere huzur

Tum hamasafr mile ho mujhe is hayaat men
Mil jaae jaise chaand koi suni raat men
Jaaoge tum kahaan ye bata do, mere huzur

 

Additional Information

गीतकार : हसरत जयपुरी, गायक : मोहम्मद रफी, संगीतकार : शंकर जयकिशन, चित्रपट : मेरे हुजूर (१९६८) / Lyricist : Hasrat Jaipuri, Singer : Mohammad Rafi, Music Director : Shankar Jaikishan, Movie : Mere Huzoor (1968)

Hindi Songs Lyrics Submitted By

Administrator

Administrator

June 10 2012

You may also like these pages:

geetmanjusha.com © 1999-2020 Manjusha Umesh | Privacy | Community Guidelines