Yeh Viraaniya Un dino Jab Ke Tum The / ये विरानीयाँ , उन दिनों जब के तुम थे यहाँ - Hindi Songs's Lyrics
Hindi Songs

Hindi Songs's Lyrics

Yeh Viraaniya Un dino Jab Ke Tum The / ये विरानीयाँ , उन दिनों जब के तुम थे यहाँ

उन दिनों जब के तुम थे यहाँ ...
जिंदगी जागी जागी सी थी,
सारे मौसम बडे मेहरबान दोस्त थे
रास्ते दावतनामें थे जो मंज़िलों ने लिखे थे
जमीन पर हमारे लिये पेड बाहें पसारे खडे थे
हमें छाँव की शाँल पहनाने के वास्ते
शाम को सब सितारें बहोत मुस्कुराते थे
जब देखते थे हमें आती जाती हवाएं
कोई गीत खुशबू का गाती हुई, छेडती थी ...गुजर जाती थी
आसमान पिघले निलम का एक गहरा तालाब था
जिसमें हर रात एक चांद का फुल खिलता था 
और पिघले निलम की लहरों में बहता हुआ
वो हमारे दिलों के किनारों को छु लेता था
उन दिनों ...जब के तुम थे यहाँ ... 

मोहब्बत मेरी जो प्यासी हुई, तो गहरी मेरी उदासी हुई 
जिंदगी ...जिंदगी में है तुम बिन ...ये विरानीयाँ ...ये विरानीयाँ ...ये विरानीयाँ ...

अश्क़ो में जैसे धूल गये सब मुस्कूरातें रंग
रस्ते में थक के सो गई मासूम सी उमंग
दिल है के फिर भी ख्वाब सजाने का शौक है
पत्थर पे भी गुलाब उगाने का शौक है
बरसों से युँ तो इक अमावस की रात है
अब इसको हौसला कँहू के जिद् की बात है...
दिल कहता है अंधेरे में भी रोशनी तो है ...
माना के राख हो गये ... उम्मीद के अलावो  ...
इस राख में भी आग कही पर दबी तो है .....

सूने सूने सारे रस्ते हैं, सूनी मंजील है जाना 
सूनी सूनी सी मेरी आँखें हैं, सूना दिल है ये जाना ...
मुझे घेरे हैं सिर्फ तनहाईयाँ, मेरे दिल में है सिर्फ खामोशीयाँ
जिंदगी ... जिंदगी में हैं तुम बिन ...ये विरानीयाँ ...ये विरानीयाँ ...ये विरानीयाँ ...

आप की याद कैसे आयेगी, आप यह क्यों समझ न पाते हैं
याद तो सिर्फ उनकी आती हैं, हम कभी जिन को भूल जाते हैं

साँस जब लूँ तो सिने में जैसे साँस चुभती हैं जाना ... 
दिल में अब तक एक उम्मीद की फांस चुभती है जाना ...
ख्वाब सारे मेरे टूटने ही को हैं, तिनके भी हात से छुटने ही को हैं
जिंदगी .. जिंदगी में हैं तुम बिन .. ये विरानीयाँ .. ये विरानीयाँ ... ये विरानीयाँ ...
Un dinon jab ke tum the yahaaan ...
Jindagi jaagi jaagi si thi,
Saare mausam bade meharabaan dost the
Raaste daawatanaamen the jo mnjilon ne likhe the
Jamin par hamaare liye ped baahen pasaare khade the
Hamen chhaaanw ki shaaanl pahanaane ke waaste
Shaam ko sab sitaaren bahot muskuraate the
Jab dekhate the hamen ati jaati hawaaen
Koi git khushabu kaa gaati hui, chhedati thi ...gujar jaati thi
Asamaan pighale nilam kaa ek gaharaa taalaab thaa
Jisamen har raat ek chaand kaa ful khilataa thaa 
Aur pighale nilam ki laharon men bahataa hua
Wo hamaare dilon ke kinaaron ko chhu letaa thaa
Un dinon ...jab ke tum the yahaaan ... 

Mohabbat meri jo pyaasi hui, to gahari meri udaasi hui 
Jindagi ...jindagi men hai tum bin ...ye wiraaniyaaan ...ye wiraaniyaaan ...ye wiraaniyaaan ...

Ashko men jaise dhul gaye sab muskuraaten rng
Raste men thak ke so gi maasum si umng
Dil hai ke fir bhi khwaab sajaane kaa shauk hai
Patthar pe bhi gulaab ugaane kaa shauk hai
Barason se yuan to ik amaawas ki raat hai
Ab isako hausalaa kanhu ke jid ki baat hai...
Dil kahataa hai andhere men bhi roshani to hai ...
Maanaa ke raakh ho gaye ... ummid ke alaawo  ...
Is raakh men bhi ag kahi par dabi to hai .....

Sune sune saare raste hain, suni mnjil hai jaanaa 
Suni suni si meri aankhen hain, sunaa dil hai ye jaanaa ...
Mujhe ghere hain sirf tanahaaiyaaan, mere dil men hai sirf khaamoshiyaaan
Jindagi ... jindagi men hain tum bin ...ye wiraaniyaaan ...ye wiraaniyaaan ...ye wiraaniyaaan ...

Ap ki yaad kaise ayegi, ap yah kyon samajh n paate hain
Yaad to sirf unaki ati hain, ham kabhi jin ko bhul jaate hain

Saaans jab luan to sine men jaise saaans chubhati hain jaanaa ... 
Dil men ab tak ek ummid ki faans chubhati hai jaanaa ...
Khwaab saare mere tutane hi ko hain, tinake bhi haat se chhutane hi ko hain
Jindagi .. jindagi men hain tum bin .. ye wiraaniyaaan .. ye wiraaniyaaan ... ye wiraaniyaaan ...
Unkown Person liked this

Song Videos

un dino jab ki tum the yahan......dedicated to 1 f my frnds....... apne wale log miss u miss apne wali.... frm pankaj and sachin.....
Viraaniya Himesh Reshammiya (Javed Akhtar Poetry)

a
Thanks for uploading complete song.
Unkown Person liked this
Umesh Gawadea
Umesh Gawade
January 03 2013 Permalink
उम्मीद के अलावो ... अलाव = campfire

@Chinmay : Removing above explanation from lyrics and putting it as comment. Thanks for additional info.
Unkown Person liked this
Avinash Sawanta
Avinash Sawant
January 04 2013 Permalink
Himesh messed it up in music as well as in singing section...
Chinmay Pandita
Chinmay Pandit
January 04 2013 Permalink
Yeh, but I posted it for the voice of Javed Akhtar and the meaning of his poetry .. osam!
Umesh Gawade liked this
Chinmay Pandita
Chinmay Pandit
January 04 2013 Permalink
Thanx

Additional Information

गीतकार : जावेद अख्तर , गायक : जावेद अख्तर - हिमेश रेशमिया, संगीतकार : हिमेश रेशमिया, गीत संग्रह/चित्रपट : नमस्ते लंडन (२००७) / Lyricist : Javed Akhtar, Singer : Javed Akhtar - Himesh Reshmiya, Music Director : Himesh Reshmiya, Album/Movie : Namastey Londan (2007)

Share this song

Hindi Songs Lyrics Submitted By

Chinmay Pandit

Chinmay Pandit

January 03 2013

You may also like these pages:

geetmanjusha.com © 1999-2016 Manjusha Umesh | Privacy | Community Guidelines